Ebook PDF Search Engine
Home | PDF Viewer | PDF Toolbar | About PDF
Vyangya
by Pankaj Kumar Yadav

व्यंग्य संग्रह - मैरेज ब्यूरोमार्तंड बोला, “पागल हो गया है, जिसकी अब तक शादी नहीं हुई वो दूसरों की शादी कराने का दावा करेगा! कौन आयेगा हमारे मैरेज ब्यूरो में?’’“ठीक ...

by Pankaj Kumar Yadav

व्यंग्य संग्रह - ओलंपिक गुरुउधर जब से ओलम्पिक खिलाड़ी पर करोड़ों रूपये बरसने लगे हैं, तब से मैंने भी ओलम्पिक खिलाड़ी बनने का तय किया है। राज़ की बात यह ...

by Pankaj Kumar Yadav

व्यंग्य संग्रह - बैंक लोन“जी आमदनी कितनी है आपकी?’’ बैंक वाले ने मुस्कुराहट के साथ पूछा जैसे मेरी गरीबी पर हंस रहा हो। मैंने कहा, “अजी आमदनी होती तो बैंक ...

Home | About Us | Terms and Conditions | DMCA | Contact Us | Link to Us
© 2009-2017 Ebook PDF Search Engine